दिन: नवम्बर 30, 2019

सूर्य चालीसा (Surya Chalisa)सूर्य चालीसा (Surya Chalisa)

सूर्य चालीसा (Surya Chalisa) ॥दोहा॥ कनक बदन कुण्डल मकर, मुक्ता माला अङ्ग, पद्मासन स्थित ध्याइए, शंख चक्र के सङ्ग॥ ॥चौपाई॥ जय सविता जय जयति दिवाकर!, सहस्त्रांशु! सप्ताश्व तिमिरहर॥ भानु! पतंग!

श्री भैरव चालीसा (Shri Bhairav Chalisa)श्री भैरव चालीसा (Shri Bhairav Chalisa)

श्री भैरव चालीसा (Shri Bhairav Chalisa) ॥दोहा॥ श्री गणपति गुरु गौरी पद प्रेम सहित धरि माथ। चालीसा वंदन करो श्री शिव भैरवनाथ॥ श्री भैरव संकट हरण मंगल करण कृपाल। श्याम